Loading…

READY TO ROCK?

Click the button below to start exploring our website and learn more about our awesome company
Start exploring
Krishna Aarti

Aarti Shri Kunj Bihari Ki Lyrics

Aarti Shri Kunj Bihari Ki Lyrics

(आरती श्री कुंजबिहारी की )

Bhagwan Shri Krishna Ki Arti

Aarti Kunj Bihari Ki Lyrics In Hindi For All Of Krishna Deities.bPraise God Krishna Chanting “Aarti Shri Kunj Vihari Ki“. He will bless you with all good things and will give you immense pleasure in your life. Hope you will love reading this Aarti Shri Kunj Bihari Ki In Hindi.

Aarti Kunk Bihari Ki
Aarti Shri Kunj Bihari Ji Ki

 

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की
गले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला।
श्रवण में कुण्डल झलकाला, नंद के आनंद नंदलाला।
 
गगन सम अंग कांति काली, राधिका चमक रही आली।
लतन में ठाढ़े बनमाली;
भ्रमर सी अलक, कस्तूरी तिलक, चंद्र सी झलक;
ललित छवि श्यामा प्यारी की॥
 
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥
आरती कुंजबिहारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥ x2
 
कनकमय मोर मुकुट बिलसै, देवता दरसन को तरसैं।
गगन सों सुमन रासि बरसै;
बजे मुरचंग, मधुर मिरदंग, ग्वालिन संग;
अतुल रति गोप कुमारी की॥
 
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥
आरती कुंजबिहारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥ x2
 
जहां ते प्रकट भई गंगा, कलुष कलि हारिणि श्रीगंगा।
स्मरन ते होत मोह भंगा;
बसी सिव सीस, जटा के बीच, हरै अघ कीच;
चरन छवि श्रीबनवारी की॥
 
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥
आरती कुंजबिहारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥ x2
 
चमकती उज्ज्वल तट रेनू, बज रही वृंदावन बेनू।
चहुं दिसि गोपि ग्वाल धेनू;
हंसत मृदु मंद,चांदनी चंद, कटत भव फंद;
टेर सुन दीन भिखारी की॥
 
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥
आरती कुंजबिहारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥ x2
 
आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥
आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥
 
 
Hope you loved it. And after reading Aarti Kunj Bihari Ki Lyrics  may Kunj Bihari bless you.
 
 
अपने विचार हमें कमेंट में जरुर बताएं।
 
जय श्री कुंजबिहारी की

6 thoughts on “Aarti Shri Kunj Bihari Ki Lyrics

Leave a Reply